ABRY: आत्मनिर्भरता की उड़ान, रोजगार का नया अवसर! |Aatmanirbhar Bharat Rojgar Yojana (ABRY) 2023 |Successfully Empowerment

भारत सरकार द्वारा शुरू की गई “आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना” (Aatmanirbhar Bharat Rojgar Yojana – ABRY) एक महत्वपूर्ण पहल है, जो देश के विकास में महत्वपूर्ण योगदान देने का दौर बनाने का मकसद रखती है। इस लेख में, हम यह डिटेल में जानेंगे कि आत्मनिर्भरता की यह उड़ान क्या है और यह नया रोज़गार का अवसर कैसे पैदा करेगी।

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना का महत्व

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना को शुरू करने का मुख्य कारण भारतीय अर्थव्यवस्था के मजबूतीकरण और विकास को तेजी से तकनीकीकृत करना है। इस योजना का महत्वपूर्ण पक्ष यह है कि इससे देश में बेरोजगार युवाओं को गहरी आर्थिक सुरक्षा और वैश्विक प्रमुख विपणन के प्रति सामरिक तयारी की सुविधा मिलेगी।

Aatmanirbhar Bharat Rojgar Yojana योजना के लक्ष्य

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के उद्देश्य निम्नलिखित हैं:

  • रोज़गार के अवसरों में वृद्धि करना
  • स्वयं रोज़गार की सुविधाओं को प्रोत्साहित करना
  • युवाओं को उचित योग्यता और प्रशिक्षण प्रदान करना
  • छोटे उद्योगों के विकास को समर्थन करना
  • कृषि सेक्टर को मजबूती देना
  • इंफ्रास्ट्रक्चर के विकास को बढ़ावा देना

योजना की विशेषताएं

योजना का उद्देश्य

योजना का मुख्य उद्देश्य बेरोजगार युवाओं को संघर्षरहित रोजगार का आधार देना है। इसके साथ ही, यह उन्हें उचित प्रशिक्षण और अवसरों की प्रवीणता में सुधार करने के लिए उचित मार्गदर्शन भी प्रदान करता है।

योजना के प्रमुख फायदे

  • आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के तहत स्थानीय उद्योगों को वित्तीय समर्थन प्रदान किया जाएगा।
  • स्वरोज़गार स्थापित करने के लिए आर्थिक सुरक्षा की सुविधा प्रदान की जाएगी।
  • युवाओं को प्रशिक्षण के माध्यम से आत्मनिर्भर बनने की सुविधा मिलेगी।

योजना की कुछ दिलचस्प तथ्य

  • आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना द्वारा स्थानीय ग्रामीण उद्योगों के बढ़ते हुए आकर्षण को बढ़ावा मिलेगा।
  • यह योजना गरीबी रेखा से संपर्क में निकले लोगों को रोजगार के अवसर प्रदान करने का एक अच्छा माध्यम होगा।

योजना के तहत किन सेक्टरों में रोजगार का मौका

खुदरा व्यापार

खुदरा व्यापार योजना के तहत छोटे व्यापारियों को वित्तीय समर्थन एवं ऋण प्रदान किया जाएगा। इससे व्यापारियों के बीच आपसी प्रतिस्पर्धा को बढ़ावा मिलेगा और विभिन्न सामग्री उत्पादों की आपूर्ति में सुधार होगा।

कृषि और पशुपालन

कृषि और पशुपालन क्षेत्र में आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना का महत्वपूर्ण योगदान है। यहां युवाओं को उचित प्रशिक्षण के माध्यम से कृषि और पशुपालन के क्षेत्र में रोजगार का अवसर दिया जाएगा।

इंफ्रास्ट्रक्चर

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना (ABRY) का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है इंफ्रास्ट्रक्चर। यह शामिल है सड़कों, पुलों, सेतुओं, विद्युत संरचनाएं, जलसंरचनाएं और टेलीकम्यूनिकेशन आदि के विकास को प्रोत्साहित करने का प्रयास करने में। बेरोज़गार युवाओं के लिए डाक्टरेट और सिद्ध पाठशाला के बनाने का भी प्रयास किया गया है ताकि तकनीकी शिक्षा की प्राथमिकता को पूरा किया जा सके।

सेवा क्षेत्र

एक और महत्वपूर्ण क्षेत्र जहां ABRY प्रभावी है, वह है सेवा क्षेत्र। यह शामिल है व्यापारिक सर्विसेज़, पर्यटन, अस्पताल, शिक्षा, स्वास्थ्य केंद्र, बैंकिंग क्षेत्र और सरकारी सेवाएं। ABRY के तहत उद्यमियों को वित्तीय समर्थन सहित आवश्यक मदद और सुरक्षा प्रदान की जाएगी। इससे न केवल नए रोज़गार के अवसर प्रदान करेंगे, बल्कि लोगों को स्वयं के उद्योग खोलने और अपने व्यवसाय को सफल बनाने का भी मौका मिलेगा।

उद्योग और निर्माण

वाणिज्यिक और निर्माण क्षेत्रों में भी कर्मठ युवाओं के लिए ABRY एक और सुनहरा अवसर है। इसका उदाहरण पहले से मौजूदा स्वामित्व के उपयोग को बढ़ाने के लिए सामूहिक ऋण की राशि और अनुदान के रूप में प्रदान की जाएगी। साथ ही, भूलेख, पर्यावरण संरक्षण, उत्पादन प्रक्रिया में मोटापा काम करने, और कर्मचारी सुरक्षा में एकीकृत सुधार के लिए भी समर्पण करने के लिए अनुदान उपलब्ध होगा।

तकनीकी पाठशाला

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना (ABRY) का और एक पहलू है तकनीकी पाठशाला। यह योजना तकनीकी और गैरतकनीकी शिक्षा के लिए महत्वपूर्ण संसाधनों की प्रदान करने का उद्देश्य रखती है। तकनीकी पाठशाला में छात्रों को कठिनाइयों का सामना करने और आविष्कार करने के लिए आवश्यक ज्ञान और कौशल प्राप्त होगा। इससे टेक्नोलॉजी और नवाचार के क्षेत्र में स्थानीय रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे।

योजना के लिए पात्रता मानदंड

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना (ABRY) में आवेदन करने के लिए कुछ मानदंडों को पूरा करना आवश्यक है। यहां हम कुछ महत्वपूर्ण पात्रता मानदंडों पर चर्चा करेंगे:

  • उम्र सीमा

ABRY के तहत आवेदन करने के लिए आयु सीमा 18 से 35 वर्ष के बीच होनी चाहिए। इसका मकसद युवाओं को मौका देना है कि वे अपने करियर को एक नई दिशा में संचालित कर सकें और अपने आप को स्वावलंबी बना सकें।

  • शैक्षणिक योग्यता

ABRY के लिए आवेदन करने के लिए अभ्यर्थी को कम से कम माध्यमिक शिक्षा की उपाधि होनी चाहिए। इससे सुनिश्चित होता है कि युवाओं को आवश्यक ज्ञान और कौशल प्राप्त हों जो उन्हें उच्चतर शिक्षा और औद्योगिक क्षेत्र में रोजगार के लिए तैयार करेगा।

जीवन प्रमाण पत्र

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना में जीवन प्रमाण पत्र उम्मीदवारों के पहला चरण है। इस प्रमाण पत्र के माध्यम से, उम्मीदवारों की मान्यता, जीवन प्रणाली, शिक्षा, और अन्य जीवन पर जानकारी मान्यीकृत की जाती है। यह उम्मीदवारों को योजना के अनुदान और सुरक्षा के लिए पात्र बनाने के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। यहाँ कुछ महत्वपूर्ण जानकारी दी गई है:

  • उम्मीदवार के पूरे नाम, पता, और संपर्क विवरण
  • उम्मीदवार की उपयोगकर्ता प्राधिकार (यदि लागू हो)
  • शैक्षणिक योग्यता और पढ़ाई के प्रमाण पत्र
  • जीवन प्रणाली, कार्य अनुभव, और कौशलों का विवरण

आय की सीमा

ABRY के अनुसार, आदेश स्थापित की गई है जिसमें आय के आधार पर योग्यता की सीमा तय की गई है। इससे यह मान्यता प्राप्त करने वाले व्यक्ति को योजना का लाभ उठाने का एक अवसर प्राप्त होता है। यह सीमा देश के अलग-अलग इलाकों और प्रशासनिक स्तरों पर विभाजित हो सकती है। इसलिए, योग्यता के मानदंडों के बारे में नवीनतम जानकारी के लिए स्थानीय प्रशासनिक अधिकारी से संपर्क करना जरूरी होता है।

योजना का नाम Aatmanirbhar Bharat Rojgar Yojana (ABRY) 2023
योजना अंतर्गत श्रम व् रोजगार मंत्रालय
योजना की सुरवात 1 अक्टूबर 2020 
योजना की अधिकृत वेबसाइटhttps://labour.gov.in/ or https://www.epfindia.gov.in

हमारी यह पोस्ट भी पढ़े – Pradhan Mantri National Apprenticeship Mela (PMNAM)

आवेदन प्रक्रिया

अब हम आवेदन प्रक्रिया के बारे में जानेंगे जो योग्य उम्मीदवारों को ABRY के लाभ से जोड़ेगी।

आवेदन की आवश्यकताएं

आवेदकों को कुछ मानदंडों को पूरा करना होता है ताकि वे ABRY के लाभ का हकदार बन सकें। यहाँ चंद महत्वपूर्ण आवश्यकताएं हैं:

  • यदि आवेदक अल्पसंख्यकों, महिलाओं, अनुसूचित जाति/जनजाति, विकलांगों, या अन्य समाजसेवी वर्ग में से हैं, तो उन्हें आप्रेति का पूरा लाभ मिलेगा।
  • उम्मीदवार को जीवन प्रमाण पत्र बनवाना होगा और यह चरण पूरा करना आवश्यक होगा।

आवेदन का क्रम

योग्य उम्मीदवार नीचे दिए गए आवेदन प्रक्रिया को पूरा कर सकते हैं:

  1. आवेदन पत्र डाउनलोड करें और प्रिंट करें।
  2. पूर्ण आवेदन पत्र में सभी आवश्यक जानकारी भरें।
  3. सभी आवश्यक दस्तावेज़ों की प्रतिलिपि बनाएं और संलग्न करें।
  4. आवेदन पत्र और संलग्नकों के साथ नजदीकी ABRY कार्यालय या वेबसाइट पर जमा करें।
  5. आवेदन की पढ़ताल करने के लिए थोड़ी देर का इंतजार करें।

आवेदन के दस्तावेज़

आवेदन प्रक्रिया के दौरान, उम्मीदवारों को कुछ आवश्यक दस्तावेज़ प्रस्तुत करने की आवश्यकता होती है। नीचे दिए गए सूची में यहाँ व्यक्तिगत, शैक्षिक, और व्यापारिक दस्तावेज़ों के उदाहरण दिए गए हैं:

  • पहचान पत्र (Aadhar Card, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस)
  • प्रमाणित पढ़ाई का प्रमाण पत्र (मार्कशीट, डिग्री, योग्यता प्रमाण पत्र)
  • व्यवसाय संबंधित दस्तावेज़ (उद्यान प्रमाण पत्र, निगम पंजी प्रमाण पत्र)
  • आवेदन फॉर्म करने हेतु अधिकृत वेबसाइट – https://www.epfindia.gov.in

अनुदान और लाभार्थी

ABRY योजना के तहत प्राप्त करने वाला व्यक्ति विभिन्न आर्थिक सुविधाओं और स्कीमों का लाभ उठा सकता है। इससे प्रमुख रूप से निम्नलिखित क्षेत्रों में मदद प्रदान की जाती है:

योजना का वित्तीय समर्थन

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना (ABRY) को लागू करने के लिए सरकार ने महत्वपूर्ण वित्तीय समर्थन प्रदान किया है। योजना के अंतर्गत, बेरोजगार युवाओं को स्वरोजगार के लिए आवश्यक पूंजी, सरकारी ऋण, और उच्च ब्याज दरों पर आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। इससे युवाओं के लिए नए रोज़गार का नया अवसर प्राप्त होगा और वे आत्मनिर्भर बनने की दिशा में अग्रसर हो सकेंगे।

बेरोज़गार युवाओं की मदद

ABRY बेरोजगार युवाओं की मदद करने का एक महत्वपूर्ण माध्यम है। यह योजना उन्हें आपूर्ति श्रृंखला में तकनीकी ज्ञान प्रदान करेगी, उच्च प्रशिक्षण की सुविधा प्रदान करेगी, और स्वरोजगार के लिए स्वतंत्रता और समर्थन प्रदान करेगी। इससे बेरोजगार युवाओं को न केवल नया रोज़गार का अवसर मिलेगा, बल्कि यह उन्हें आत्मनिर्भर बनने के लिए आवश्यक कौशलों का विकास करने का मौका देगी।

योजना की अंतर्दृष्टि

ABRY योजना की अंतर्दृष्टि है कि यह देश की आर्थिक विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी। इस योजना के माध्यम से नए उद्यमियों को संचालन में सुविधाएं प्रदान कर रोज़गार के आदान-प्रदान को बढ़ावा दिया जाएगा। इससे उद्योगों को वित्तीय और तकनीकी सहायता प्राप्त करने में मदद मिलेगी, जिससे उन्हें अपने व्यवसाय को सफलतापूर्वक चलाने का अवसर मिलेगा।

सफलता की कहानियाँ

  • जीवन में सफलता प्राप्त करने वाले युवाओं की कहानियाँ

ABRY योजना के तहत कई युवाओं को जीवन में सफलता मिली है। उनकी कहानियाँ दूसरे युवाओं के लिए प्रेरणा स्रोत हैं। इन सुयोग्य युवाओं ने अपने कठिनाईयों का सामना करते हुए अपने उद्यम और सामर्थ्य का प्रदर्शन किया है और खुद को सबित किया है कि संघर्ष के बावजूद सफलता हासिल की जा सकती है। इन कहानियों से साक्षात्कार और संगठनों के साथ साझा की जा सकती है, जिससे अधिक लोगों को प्रेरित किया जा सके।

  • योजना का सक्षमता और स्वीकृति

ABRY योजना की सफलता को देखते हुए यहां युवाओं की सक्षमता और उनकी स्वीकृति को महत्व दिया जाता है। रोज़गार को एक सशक्तिकरण साधन के रूप में व्याप्त करने के लिए युवाओं को सही दिशा और सूचना प्रदान की जाती है। उन्हें अपने क्षेत्र में मान्यता प्राप्त करने और अपने कौशलों को साबित करने का मौका मिलता है ताकि वे विभिन्न कौशल स्तरों के बदलते संदर्भों में सफलता प्राप्त कर सकें।

योजना के स्तर पर प्रारंभिक प्रभाव

  • स्वरोज़गार के उदाहरण

ABRY योजना के प्रारंभिक प्रभाव के बारे में कहना मुश्किल नहीं है। कई युवा उद्यमी इस योजना के लाभार्थी बनकर स्वरोज़गार के क्षेत्र में सफलता प्राप्त कर रहे हैं। वे न केवल खुद को आत्मनिर्भर बना रहे हैं, बल्कि अपने परिवार और समाज की आर्थिक स्थिति को भी सुधार रहे हैं। जैसे-जैसे इन संघर्ष करने वाले उद्यमियों की संख्या बढ़ेगी, स्थानीय अर्थव्यवस्था को भी वृद्धि मिलेगी और ये आत्मनिर्भरता की प्रेरणा बनेगी।

  • ग्रामीण क्षेत्रों में रोज़गार की संभावनाएं

ABRY योजना ग्रामीण क्षेत्रों में रोज़गार की संभावनाओं को भी बढ़ावा देगी। यह योजना ग्रामीण क्षेत्र में छोटे उद्योगों और क्षुद्र व्यवसाय को समर्थन प्रदान करेगी। इससे ग्रामीण क्षेत्रों में रोज़गार की उपलब्धता में सुधार होगा और स्थानीय जनता को नये रोज़गार के लिए बाहर के शहरों की तलाश नहीं करनी पड़ेगी।

  • स्थानीय उद्योगों का समर्थन

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना (ABRY) एक ऐसी महत्वपूर्ण योजना है जो स्थानीय उद्योगों के समर्थन को बढ़ावा देती है। यह एकमात्र योजना है जो उन उद्यमियों के लिए बनाई गई है जो अपने क्षेत्र में नई रोजगार सृजन कर सकते हैं। ABRY के माध्यम से, सरकार स्थानीय उद्योगों के कारोबारी और आर्थिक सुदृढ़ित करने में मदद करती है, जिससे न केवल उपजाऊता बढ़ती है, बल्कि क्षेत्रीय विकास को भी सहायता प्राप्त होती है।

 सामरिक पहलुओं का आदान-प्रदान

  • आर्थिक सुरक्षा

ABRY का एक महत्वपूर्ण पहलू आर्थिक सुरक्षा है। इस योजना के अंतर्गत, सरकार स्वरोजगार करने की इच्छा रखने वाले व्यक्ति को आर्थिक रूप से सुरक्षित करने के लिए विभिन्न आर्थिक सहायता प्रदान करती है। इससे उद्यमियों को निर्धारित समय तक लाभ प्राप्त करने में मदद मिलती है और उन्हें आर्थिक विपत्तियों का सामना करने के लिए सकारात्मक प्रभाव प्रदान होता है।

  • स्वरोज़गार संबंधी आवश्यक सहायता

ABRY योजना में एक और महत्वपूर्ण पहलू है स्वरोज़गार संबंधी आवश्यक सहायता का प्रदान। इस योजना के तहत, सरकार छोटे उद्योगों को प्रशिक्षण, उद्योग निवेश, तकनीकी संबंधित सप्लाय चेन के विकास आदि में सहायता प्रदान करती है। यह स्वरोज़गार करने की इच्छा रखने वाले व्यक्तियों को मजबूत आधार और सही नवीनतम साधनों का उपयोग करने की संभावना प्रदान करती है।

  • प्रशिक्षण और मेंटरिंग

ABRY योजना द्वारा प्रदान की जाने वाली दूसरी सामरिक पहलू है प्रशिक्षण और मेंटरिंग का समर्थन। योजना ने इसे एक प्राथमिकता बनाया है कि स्वरोज़गार करने की इच्छा रखने वाले उद्यमियों को उच्च-तकनीकी प्रशिक्षण और आवश्यक मेंटरिंग प्रदान की जाए। यह मदद उन्हें कारोबार क्षेत्र में एक आदर्श बनाने में सहायता प्रदान करती है, जिससे कि उनका क्रियान्वयन और प्रभार प्रगतिशील, एकीकृत हो सके।

योजना के निरीक्षण मेकेनिज़्म

  • योजना की प्रगति पर निगरानी

ABRY योजना के निरीक्षण मेकेनिज़्म का मुख्य उद्देश्य योजना की प्रगति, संचालन और उन्नयन की निगरानी करना है। सरकार इस मेकेनिज़्म के माध्यम से प्रतिदिन योजना की प्रगति का मूल्यांकन करती है और सुनिश्चित करती है कि सभी समर्थित उद्यमियों को सही समय पर लाभ प्राप्त हो रहा है। यह मेकेनिज़्म उद्यमियों को सरकारी सहयोग और निर्देशन के माध्यम से उनके कार्यों को सुगम बनाए रखने में सहायता प्रदान करता है।

  • योजना का मूल्यांकन

ABRY योजना के मूल्यांकन का उद्देश्य योजना की अद्यतन और सुधार के लिए संकेतक उपाय ढूंढ़ना है। इस मूल्यांकन में, सरकार योजना के लाभार्थियों से फीडबैक लेती है और योजना को सदैव सुधारने और बेहतर बनाने के लिए आवश्यक बदलावों का पता लगाती है। यह मूल्यांकन न केवल योजना की प्रगति को मापता है, बल्कि योजना के लाभार्थियों के अनुभवों को विश्लेषण करके उनकी सहायता करता है और सुनिश्चित करता है कि योजना जनता के उद्यमों की आवश्यकताओं को पूरा करने में सक्षम है।

योजना की समीक्षा और संशोधन

  • योजना की सफलता के मापदंड

योजना की समीक्षा और संशोधन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा योजना की सफलता के मापदंडों को मूल्यांकन करना है। सरकार नियमित रूप से योजना की प्रगति के मापदंडों का संशोधन करती है ताकि योजना प्रभावी ढंग से संचालित हो सके। ये मापदंड उद्यमियों के साथ निरंतर संवाद और स्पष्टीकरण का भी माध्यम बनाते हैं ताकि सरकार विभिन्न क्षेत्रों में योजना की सफलता को बढ़ा सके।

  • आवश्यक बदलावों की संभावना

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना (ABRY) एक महत्वपूर्ण कदम है जो भारतीय अर्थव्यवस्था में क्रांतिकारी परिवर्तन को प्रोत्साहित करने का उद्देश्य रखती है। यह योजना नोजवानों के लिए नये रोजगार के अवसर प्रदान करने का प्रयास है जिससे उनकी सामरिक, तकनीकी, व्यवसायिक, और अन्य कौशलों को संवारेगा। इसके साथ ही, यह योजना अर्थव्यवस्था को बचाने और सकारात्मक दिशा में मोड़ने के लिए विकल्पों के संबंध में गहरा विचार करती है।

ABRY के तहत आवश्यक बदलावों की संभावना है:

रोजगार संकट का उपशमन

  • ABRY योजना के लागू होने से, नोजवानों को नए रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे जो उनकी आर्थिक समस्याओं को हल करेगा।
  • इससे कई उच्च न्यूनतम मजदूरी वाले व्यवसायों को विकास का आदान-प्रदान होगा और देश की गरीब जनता को रोजगार और आय के साथ विकास की अच्छी उपलब्धि मिलेगी।

तकनीकी और व्यावसायिक शिक्षा को संवारेगा

  • ABRY माध्यम से, नवाचारी तकनीक और व्यावसायिक शिक्षा के क्षेत्र में नए रोजगारी अवसर सर्जित किए जाएंगे।
  • नोजवानों को नवीनतम और उपयोगी तकनीकों का ज्ञान प्राप्त होगा, जो उन्हें आगे बढ़ने के लिए मदद करेगा।

सामरिक कौशलों का विकास

  • ABRY की महत्वपूर्ण गाइडलाइन्स के तहत, सामरिक कौशल धारी नोजवानों को भारतीय सेना, नौसेना, और वायु सेना में अवसर मिलेगा।
  • इससे न केवल राष्ट्रीय सुरक्षा मज़बूत होगी, बल्कि युवा पीढ़ी को एक गर्वमय और आर्थिक रोजगारी युक्तियां प्राप्त होंगी।

संपर्क जानकारी

  • योजना का नाम: Aatmanirbhar Bharat Rojgar Yojana (ABRY) 2023
  • संपर्क व्यक्ति: Ministry of Labour & Employment
  • ईमेल: employeefeedback@epfindia.gov.in
  • फोन: 1800118005

समापन और निष्कर्ष

ABRY: आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना भारतीय युवाओं के लिए वास्तविक रोजगार के नए द्वार खोलने की पहल है। इस योजना के माध्यम से नोजवानों को अच्छी शिक्षा, तकनीकी योग्यता, और समारोहों की तैयारी करके रोजगार में सफलता प्राप्त करने का अवसर मिलेगा। इसके अलावा, यह योजना देश की गरीब जनता को सशक्त बनाने का उद्देश्य रखती है और अर्थव्यवस्था को विपणनीय उत्पादों के विस्तार के माध्यम से प्रगति कराने का संकल्प है। ABRY योजना ने न केवल जनजाति, शिक्षित, और सामरिक कौशलधारी नोजवानों को लाभ प्रदान किया है, बल्कि इसने भारतीय सामरिक और आर्थिक सुरक्षा को बढ़ावा दिया है।

योजना के लाभ और महत्व

  • ABRY योजना के अंतर्गत नोजवानों को खुदरा और ऑनलाइन विक्रय के क्षेत्र में विक्रेता बनने के लिए समर्पित कक्षाएं प्रदान की जाएंगी, जिससे उनकी आमदनी में सुधार होगा।
  • इससे टेक्नोलॉजी, इंजीनियरिंग, कंप्यूटर एप्लीकेशन्स, और अन्य प्रगतिशील क्षेत्रों में रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे।
  • ABRY योजना के तहत छात्रों को नवाचारी और गार्गरीब वर्ग के स्वयंरोजगारी न छोड़े जाने के लिए महत्वपूर्ण विपणनीय योजनाएं प्रदान की जाएंगी।

योजना के प्रति जनता की प्रतिक्रिया

  • आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के प्रति जनता की प्रतिक्रिया अभूतपूर्व रही है। लोगों में यह उत्साह भर गई है क्योंकि इससे न केवल केंद्र सरकार द्वारा कोरोना महामारी के दौरान खोए गए रोजगार को बहाल करने की उम्मीद है, बल्कि यह भारत को आत्मनिर्भर राष्ट्र बनाने का भी संकल्प है।
  • यह योजना
  • और नयी सोच बनाने का प्रयास है जिससे भारतीय युवाओं को आत्मनिर्भर बनाना है, और विभिन्न क्षेत्रों में मज़दूरी के अवसर प्रदान करना है।


आत्मनिर्भर रोजगार योजना क्या है?भारत आत्मनिर्भर रोजगार योजना लाभ एवं विशेषताएं

भारत आत्मनिर्भर योजना के तहत देश के नागरिको को रोजगार के नए अवसर प्रदान किये जायेंगे। ऐसे कर्मचारी जिनका मासिक वेतन 15 हजार रूपये से कम हैं उन्हें इस योजना के अंतर्गत लाभ दिया जायेगा।


आत्मनिर्भर भारत योजना का लाभ कैसे लें?प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना में आवेदन करने के लिए आपको अपना ईपीएफ खोलना होगा। स्कीम के तहत संगठित क्षेत्र में रोजगार देने पर बल दिया जायेगा ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों को कर्मचारी भविष्य निधि से जोड़ा जायेगा। योजना का लाभ वही ले सकते हैं जो EPFO के अंतर्गत रजिस्टर्ड होंगे।

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के तहत उन कर्मचारियों को कवर किया जाएगा, जिन्होंने 1 अक्टूबर 2020 से 30 जून 2021 के बीच नौकरी ज्वॉइन की है। इस योजना के तहत EPFO में रजिस्टर्ड संस्थान में नियुक्त होने वाला हर वह नया कर्मचारी कवर होगा, जिसका मासिक वेतन 15,000 रुपये से कम है।

अभियान का लक्ष्य स्थानीय विनिर्माण को बढ़ावा देकर भारत को आत्मनिर्भर बनाना है, जिससे न केवल रोजगार के अवसर पैदा होंगे बल्कि आयात भी कम होगा और देश की अर्थव्यवस्था को बढ़ावा मिलेगा। यह अभियान स्थानीय व्यवसायों को वित्तीय और अन्य सहायता प्रदान करके नवाचार और उद्यमशीलता को प्रोत्साहित करता है।

प्रधानमंत्री स्वरोजगार योजना का लाभ लेने के लिए सबसे पहले आपको सरकार की वेबसाइट pmrpy.gov.in को खोलना होगा। Pradhanmantri Rojgar Yojana उसके बाद वहां से पीएम रोजगार योजना के आवेदन फॉर्म को डाउनलोड करें। फिर फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी को भरें। इसके बाद, आपको दिए गए दस्तावेजों के साथ फॉर्म को बैंक में जमा करना होगा।

“आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना 2023” (ABRY) भारतीय अर्थव्यवस्था की मजबूतीयों को बढ़ाने एवं बेरोजगार युवाओं को सम्पूर्ण रोजगार मौका प्रदान करने का मार्ग है। इस योजना के तहत सरकार ने स्वरोजगार आयोजना, नौकरी सृजन, और कौशल विकास जैसे मुद्दों को उठाया है। यह योजना देश के युवाओं को न केवल नौकरी प्रदान करेगी, बल्कि उन्हें योग्यता और दक्षता के प्रतिष्ठान करने का अवसर देगी। ABRY ने एक आत्मनिर्भर और प्रगतिशील भारत की ओर एक महत्वपूर्ण कदम उठाया है।

इस लेख में हमने आपको आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना 2023″ (ABRY) क्या है , Aatmanirbhar Bharat Rojgar Yojana (ABRY) 2023 के लिए कोण पात्र है, योजना का उद्देश , Aatmanirbhar Bharat Rojgar Yojana (ABRY) 2023 के फायदों के बारे में विस्तृत रूप से बताया है.

Sharing Is Caring:

Leave a Comment